Health Card - भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने 15 अगस्त को देश को संबोधित करते हुए डिजिटल हेल्थ मिशन के तहत "वन नेशन वन हेल्थ कार्ड" योजना की शुरुआत की। उन्होंने यह 74वें  स्वतंत्रता दिवस के शुभ अवसर पर देश देशवासियो को संबोधित करते हुए इस योजान की घोसन की। इस योजना का लाभ कोई भी ले सकता हैं। इस हेल्थ कार्ड में आप के हेल्थ से जुड़ी सभी जानकारी होगी। शुरुआती दौर में इस Health Card को छह राज्य में लागु किया जाएगा और बाद में अन्य राज्यों में भी लागु किया जाएगा।

health card

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री के अनुसार इस हेल्थ कार्ड को शुरुआत में मात्र छह राज्य में शुरू किया जाएगा। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री का कहना हैं की शुरुआती दौर में छह केंद्र शासित प्रदेशों में इस हेल्थ कार्ड की शुरुआत की जाएगी। और सब कुछ ठीक रहने पर अन्य राज्यों में भी इस योजना की शुरुआत की जाएगी।


कौन से राज्य में योजना की शुरुआत होगी?


इन छह राज्यों में इस योजना की शुरुआत की जाएगी :- अंडमान निकोबार द्वीप, चंडीगढ़, लद्दाखलक्षदीप, दादरा नगर हवेली, दमन दीव और पुडुचेरी (Announced in Andaman & Nicobar Islands, Chandigarh, Dadra & Nagar Haveli and Daman & Diu, Ladakh, Lakshadweep and Puducherry) ये राज्य शामिल हैं।


हेल्थ कार्ड के फ़ायदे?


अगर आप अपना हेल्थ कार्ड बनवाते हैं तो आप के हेल्थ से जुड़ी सभी जानकारी आप के हेल्थ कार्ड में होगी। आप कोई भी टेस्ट करवाते हैं या किसी किसी बिमारी का इलाज़ करवाते हैं तो आप के उपचार की सभी जानकारी आप के हेल्थ कार्ड में रहेगी। कोई भी टेस्ट या कोई भी रिपोर्ट आप को साथ में नहीं रखना होगा। बल्कि आप अपना हेल्थ ID हॉस्पिटल में बताएँगे और आपके हेल्थ ID से ही आप के उपचार की सभी जानकरी निकल जाएगी। हेल्थ कार्ड में आप के हेल्थ से जुड़ी सभी जानकारी उपलब्ध रहेंगी।


इससे सबसे बढ़ा फायदा ये होगा की आप को बार-बार डॉक्टर को नहीं बताना होगा की आप को क्या उपचार करवाना हैं। बस आप अपना हेल्थ कार्ड का ID बताएँगे और आप के कार्ड से ही डॉक्टर को पता चल जाएगा की आप को क्या उपचार करवाना हैं। सब कुछ आप के हेल्थ कार्ड में ही रहेगा। जैसे की आप ने कौन सा टेस्ट कब करवाया था। आप टोटल कितने टेस्ट करवा चुके हैं। और इसी तरह की सभी जानकारी आप के हेल्थ कार्ड में रहेगा। और अगर आप एक हॉस्पिटल से किसी दूसरे हॉस्पिटल में जाते हैं तो आप को दुबारा से सभी टेस्ट और जाँच नहीं करवाना होगा। बस आप को अपना हेल्थ कार्ड का ID बताना होगा। और आप के उपचार की सभी जानकारी निकल जाएगी।

कौन इस योजना का लाभ ले सकता हैं?

इस योजना का लाभ कोई भी ले सकता हैं। देश का प्रत्येक नागरिक इस योजना का लाभ लेने के लिए योग्य हैं। फ़िलहाल लोगों पर निर्भर करता हैं की वे इस योजना का लाभ लेंगे या नहीं।

इसे भी जाने :- लेबर कार्ड के फ़ायदे?

कैसे शुरू होगा ये योजना?

इस योजना को अच्छे से चलाने के लिए सभी अस्पतालों और मेडिकल स्टोर को आपस में लिंक किया जाएगा। इस कार्ड में एक यूनिक नंबर रहेगा। और साथ ही में एक यूजर ID भी रहेगा। जिसे यूजर खुद ही बना सकता हैं। हेल्थ कार्ड बनवाने के लिए यूजर को अपना सभी जानकारी देना होगा। जैसे की नाम, पता, मोबाइल नंबर, आधार कार्ड नंबर, इत्यादी जानकारी देना होगा। एक नया हेल्थ कार्ड बनवाने के लिए आप को इस https://healthid.ndhm.gov.in/ वेबसाइट पर जाना होगा। 

Post a Comment

और नया पुराने